हमने दिखा दिया कि लोगों को बचाने में भी 'आत्मनिर्भर' है भारत: नीति आयोग
| Agency - Jan 16 2021 3:33PM

आज 16 जनवरी को देशभर में कोरोना वायरस टीकाकरण की शुरुआत हो गई है। देश के अलग-अगल हिस्सों में लोगों को कोरोना वायसर के टीके लगाए जा रहे हैं। नीती आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य), वीके पॉल ने भी आज दिल्ली स्थिति एम्स में कोरोना वायरस का टीका लगवाया। इस मौके पर उन्होंने कहा, "आज हमने प्रदर्शित किया है कि हम भारत के लोगों की रक्षा करने में 'आत्मानिर्भर' हो सकते हैं, कम समय में टीके बनाने जैसी फ्रंटलाइन तकनीक में।

हमने आज भारत में निर्मित दो टीके लगाए हैं, दोनों महान वैक्सीन हैं।" डॉ. पाल ने लोगों से इन्हें अपनाने की अपील करते हुए कहा, "कृपया इसे गले लगाओ और अपने स्वयं के उत्पादों, अपने स्वयं के विज्ञान, खुद की प्रौद्योगिकी और नियामक प्रणाली में विश्वास और सरकार में विश्वास - दोनों केंद्रीय और राज्यों में विश्वास को दिखाओ।" इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी मौजूद थे। भारत में निर्मित कोरोना वैक्सीनों की तारीफ करते हुए नीती आयोग के सदस्य डॉ. पाल ने कहा लोगों से कहा, "हजारों और हजारों व्यक्तियों पर संदेह के बिना सुरक्षा साबित हुई।

हमें अत्यंत भिन्न, कठिन और असामान्य परिस्थितियों में सामने आई वैज्ञानिक प्रक्रियाओं का सम्मान करना चाहिए। आज 2 महान टीके उपलब्ध हैं। आपको जो भी टीका आवंटित किया गया है, फेज 3 का ट्रायल अभी भी चल रहा है। यहां तक ​​कि फाइजर, मॉडर्ना के तीसरे चरण का परीक्षण अभी भी चल रहा है, लेकिन आंकड़ों पर नजर डालें तो लाभ जोखिम की तुलना में अधिक है। विश्व ने आगे बढ़ने, लाभ लेने और यह सुनिश्चित करने का निर्णय लिया है कि इस चरण में क्या आवश्यक है।" गौरतलब है कि आज शनिवार को देश में कोरोना वायरस के टीकाकरण की शुरुआत की गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज इस कार्यक्रम की शुरूआत की।



Browse By Tags



Other News