मुख्तार अंसारी बांदा जेल पहुंचते ही व्हीलचेयर से उतरकर खुद गये बैरक में
| Agency - Apr 7 2021 1:46PM

पंजाब की रोपड़ जेल से मुख्तार अंसारी को लेने गई यूपी पुलिस की टीम 900 किमी का सफर तय करके बुधवार तड़के 4.30 बजे बांदा जेल पहुंची।पंजाब में जहां मुख्तार व्हील चेयर से एंबुलेंस में सवार हुआ था, वहीं बांदा जेल में वह अपने पैरों पर खड़ा होकर अंदर गया। अंसारी के चेहरे पर घबराहट दिखी। डॉक्टर्स के पैनल की जांच में वह पूरी तरह फिट पाया गया। 

यहां मुख्तार को 15 नंबर की बैरक में रखा गया है। सीओ सदर सत्यप्रकाश ने बताया कि हमें अंसारी को बांदा जेल लाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। हम बसपा विधायक को एंबुलेंस में लेकर बुधवार सुबह आए हैं। मुख्तार अंसारी को लेकर बांदा जेल में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। जेल की हर दीवार पर सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है। सुरक्षा ऐसी है कि परिंदा भी पर न मार सके। 

बताते चलें कि पंजाब की रोपड़ जेल बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को खूब रास आई। वह यहां पर अपने आपको पूरी तरह सुरक्षित समझता था। यहां से यूपी नहीं जाना चाहता था। दो साल में आठ बार यूपी पुलिस उसे लेने रोपड़ भी पहुंची लेकिन हर बार सेहत, सुरक्षा और कोरोना का कारण बताकर पंजाब पुलिस ने सौंपने से इनकार कर दिया था। 

जेल गेट के बाहर सुरक्षा कई गुना बढ़ी

मुख्तार अंसारी की एंट्री के बाद जेल गेट के बाहर सुरक्षा का दायरा और बढ़ा दिया गया है। मुख्य गेट के बाहर स्थित पुलिस चौकी में एक दरोगा और दस कांस्टेबल अतिरिक्त तैनात किए गए हैं। यहां एक दरोगा और चार सिपाही पहले से ही नियुक्त हैं। एएसपी महेंद्र प्रताप चौहान ने बताया कि जेल की बाउंड्री में लगातार पिकेट ड्यूटी और गश्त होगी। इसमें एक प्लाटून पीएसी (25 जवान) तैनात की गई है।



Browse By Tags



Other News