मीरजापुर की बेटी ने लद्दाख की चोटी पर फहराया तिरंगा, स्वागत में उमड़े सैकड़ो लोग
| Rainbow News - Jul 19 2017 2:47PM

मीरजापुर। जनपद के माटी में पैदा हुई एक बेटी ने लद्दाख की ऊंची बर्फीली चोटियों पर टीम के साथ भारत का तिरंगा फहराने वाली बेटी जब अपने घर पहुंची तो स्वागत में पूरा गांव ही उमड़ पड़ा। सोमवार को देर रात वाराणसी शक्तिनगर राजमार्ग के रस्तोगी तालाब के हिनौती माफी मार्ग अपने गांव पहुंचने पर काजल का जोरदार स्वागत हुआ।

वहां मौजूद सैकड़ों की तादात में गांव के लोगों ने गांव की बेटी की आरती उतार कर जिले व प्रदेश का गौरव बढ़ाने वाली इस बेटी का गाजे बाजे के साथ स्वागत किया गया। इतना ही नहीं रस्तोगी तालाब से हिनौती गांव के बीच दो किलोमीटर की दूरी काजल पटेल का लोगों ने जगह-जगह आरती उतारकर स्वागत किया।

बनारस हिन्दु विश्व विद्यालय वाराणसी के 7यूपी एयर स्ववाड्रन एनसीसी के कैडेट काजल ने बताया कि 15600 फीट कैम्प-1 पर पहुंचने पर बर्फीली बारिश होने से चार दिन गुजारने के बाद एक जुलाई को लद्दाख की चोटी पर वह और उसकी पूरी टीम पहुंची थी।

इस दौरान बीच-बीच में बर्फ की दरारे भी थी, जिन्हें पार करते हुए टीम के साथ जब वह चोटी पर सभी की दुआएं और आर्शीवाद से हमारी टीम ने तिरंगा लहराया। काजल उस छड़को जिन्दगी का सबसे अहम पल बताते हुए कहां कि यह जिन्दगी भर न भुलने वाला पल था। काजल हिनौती माफी गांव के किसान संत राम सिंह की बेटी है जो इस समय वाराणसी में रहकर अपनी पढ़ाई कर रही है।

रिपोर्ट- सन्तोष देव गिरि



Browse By Tags



Other News