शांति के लिए चीन को खिताब भी लौटाने को तैयार हैं विजेंदर
| Rainbow News - Aug 6 2017 10:25PM

 मुंबई । भारत के स्टार पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने कहा है कि वह सीमा पर शांति के लिए वह चीन के मुक्केबाज जुल्फिकार माइमाइतियाली को उसका खिताब भी लौटाने के लिए तैयार हैं। इससे पहले कल एक करीबी मुकाबले में विजेंदर ने माइमाइतियाली को हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीता। विजेंदर ने इसके अलावा डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट खिताब भी जीता।  विजेंदर ने जीत के बाद चीनी खिलाड़ी को खिताबी बेल्ट लौटाने का प्रस्ताव देते हुए कहा कि मैं दोनों देशों के बीच तनाव को कम कर शांति का संदेश देना चाहता हूं. खिताब लौटाने के पीछे मेरा मकसद शांति का संदेश देना है। विजेंदर ने कहा कि मैं अपनी खिताब वापस लौटा दूंगा लेकिन चीन सीमा पर शांति बनाए रखे।
भारत और चीन के बीच डोक्लाम में विवाद जारी है। यह विवाद तब शुरु हुआ जब चीन ने भूटान के डोकलाम में सड़क बनाने की कोशिश की और भारत ने उसे रोक दिया। डोकलाम वो इलाका है जहां भारत-चीन-और भूटान की सीमाएं मिलती हैं। भारत का कहना है कि तीनों देशों के बीच सहमति के बिना चीन यहां कुछ नहीं कर सकता। फिलहाल भारत के सैनिक डोकलाम में मौजूद हैं और चीन इस बात पर अड़ा है कि भारत अपने सैनिकों को वहां से हटाए। ऐसे समय में विजेंदर के इस कदम की सोशल मीडिया पर सराहना की जा रही है। बता दें कि बीजिंग ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता विजेंदर की पेशेवर कैरियर में यह लगातार नौवी जीत थी. विजेंदर ने अपने कद और अनुभव का बखूबी इस्तेमाल करके विरोधी को दबाव बनाने का कोई मौका नहीं दिया।



Browse By Tags



Other News